Loading...
Image
Image
View Back Cover

भारत की विदेश नीति

चुनौती और रणनीति

यह पुस्तक भारत की विदेश नीति की आलोचना करने और विकल्प सुझाने का साहसिक प्रयास है। यह भारत की विदेश नीति से जुड़े अधिकारी वर्ग की चिंताओं को सामने लाती ही है साथ ही नई दिल्ली की बंद परिषदों की बहसों की झलक प्रस्तुत करती है। सीकरी भारतीय परिप्रेक्ष्य का वर्णन करते हुए कहते हैं कि भारत की महत्वाकांक्षाओं में बड़ी बाधा उसके पड़ोसियों का उसकी नीयतों पर अनुचित संदेह और चीन का उदय है।

  • चिन्मय आर घरेखान द्वारा प्रस्तावना
  • भूमिका
  • इक्कीसवीं सदी की दुनिया
  • भारत और दक्षिण एशिया
  • पाकिस्तान और अफ़गानिस्तान
  • बांग्लादेश, म्यांमार और पूर्वोत्तर क्षेत्र
  • श्रीलंका, नेपाल और भूटान
  • तिब्बत और चीन
  • ‘पूर्व की ओर देखो’ नीति
  • फ़ारस की खाड़ी, फ़िलिस्तीन और इज़राइल
  • रूस और यूरेशिया
  • अमेरिका और परमाणु मुद्दे
  • ऊर्जा सुरक्षा
  • आर्थिक कूटनीति
  • रक्षा और कूटनीति
  • परंपराएं और संस्थाएं
  • भारत के सामरिक विकल्प
  • भारत जाग रहा है?
राजीव सीकरी

राजीव सीकरी भारतीय विदेश सेवा में 36 वर्षों से अधिक समय तक राजनयिक रहे हैं। वे 2006 में विदेश मंत्रालय में सचिव के पद से सेवानिवृत्त हुए। इस पद पर रहते हुए उनपर पूर्व एशिया, ASEAN, प्रशांत क्षेत्र, अरब दुनिया, इज़राइल, ईरान और मध्य एशिया के साथ भारत के सामरिक संबंधों की ज़िम्मेदारी थी। इससे पहले उन्होंने आर्थिक संबंधों के लिए विशेष सचिव के रूप में का ... अधिक पढ़ें

Also available in:

PURCHASING OPTIONS

For shipping anywhere outside India
write to customerservicebooks@sagepub.in