Loading...
Image
Image
View Back Cover

स्क्वेटिंग विद डिगनिटी

भारत में स्वच्छता अभियान

यह पुस्तक ’स्क्वेटिंग विद डिगनिटी‘ (भारत में स्वच्छता अभियान) उन सफलताओं व चुनौतियों का विश्लेषणात्मक अवलोकन करती है, जो भारत के ग्रामीण स्वच्छता कार्यक्रम के आरम्भिक दौर में आई थीं। इस पुस्तक में विशेष रूप से पिछले दशक की स्वच्छता कार्यक्रम की उपलब्धियों का वर्णन किया गया है। देश के स्वच्छता कार्यक्रम से सम्बद्ध निषिद्ध प्रथा को समाप्त करने के प्रयास में यह पुस्तक पुरातन भारत में स्वच्छता और स्वास्थ्य विज्ञान को दिए गए महत्व का ऐतिहासिक लेखा-जोखा प्रस्तुत करती है। यह भारत की स्वच्छता संबंधी नीति पर भी प्रकाश डालती है। सम्पूर्ण स्वच्छता अभियान (टी.एस.सी.) के क्रियान्वयन के समय नीति निर्धारकों ने जिन मुख्य चुनौतियों का सामना किया तथा जिन मुद्दों पर बहस भी हुई, वे सभी आँकड़े व तथ्य इस पुस्तक में समाहित हैं। इसके साथ ही मुख्य सफलता कारक व इनसे प्राप्त अनुभव भी इस पुस्तक में प्रस्तुत किए गए हैं। यह पुस्तक एक ऐसे पाठक वर्ग पर केंद्रित है, जो नीति निर्धारकों, कार्यक्रम प्रबंधकों और कार्यक्रम क्रियान्वन समूहों को शामिल करता है। यह पुस्तक स्वच्छता के कार्यक्रमों के लिए दूरदर्शितापूर्ण अवलोकन की रूप-रेखा भी चित्रित करती है। इसमें ऐसे नवीनतम् विचारों को भी प्रस्तुत किया गया है, जो न केवल भारत के लिए, अपितु विश्व के कई अन्य देशों के लिए भी प्रासंगिक हैं।

  • परिचय
  • ग्रामीण स्वच्छता : चरणबद्ध विकास
  • प्रमुख नीतियों पर परिचर्चा तथा कार्यान्वयन नीति का विकास
  • व्यवस्था निर्माण
  • भौगोलिक विस्तार
  • आंदोलन का विस्तार
  • प्रमुख उपलब्धियाँ और सीख
  • प्रमुख चुनौतियाँ
  • प्रगति के भावी पथ पर
कुमार आलोक

कुमार आलोक 1990 बैच के आई.ए.एस.अधिकारी हैं। इस समय वे त्रिपुरा सरकार के ग्रामीण विकास,पंचायत और पर्यटन विभाग में सचिव पद पर आसीन हैं। उन्होंने आई.आई.टी. कानपुर से वैमानिकी इंजीनियरिंग में एम.टेक. की उपाधि प्राप्त की है। श्री आलोक एक सुप्रसिद्ध सामाजिक विकास पेशेवर हैं। विभिन्न सामाजिक क्षेत्र में कार्य करने का उनका लम्बा, सतत एवं समृद्ध अनुभव है। उ ... अधिक पढ़ें

Also available in:

PURCHASING OPTIONS

ISBN: 9789351505921

₹ 450.00

ISBN: 9789351505938

₹ 450.00

For shipping anywhere outside India
write to marketing@sagepub.in